• Article Image

    ई-तानाबाना से बुनकरों के सामान को मिलेगी पहचान : समीर वर्मा

    Posted by - Vijay Darpan Times

    मेरठ : जिलाधिकारी समीर वर्मा ने कहा कि ई-ताना बाना यूपी वेब पोर्टल के जरिये हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग द्वारा तैयार उत्पादों को क्रय करने से कार्यालय में सामान क्रय हेतु किसी प्रकार टेण्डर प्रक्रिया आदि की आवश्यकता नही होगी जो सीधे निर्धारित मापदण्डों के अनुरुप आॅनलाइन प्रक्रिया द्वारा उत्पाद क्रय किए जा सकेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि हथकरघा कृषि के बाद सर्वाधिक रोजगार उपलब्ध कराने वाला प्रदूषण रहित कुटीर उद्योग है। यह उद्योग परम्परागत कलात्मकता एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था के सुदृढीकरण की दृष्टि से अत्यन्त महत्वपूर्ण है। देश की वस्त्र आवश्यकता का एक बडा हिस्सा हथकरघा उद्योग द्वारा ही पूरा किया जाता है, विदेशी मुद्रा अर्जन में भी इसका प्रमुख स्थान है। उन्होंने कहा मेरठ में हथकरघा बुनकरों द्वारा किए जा रहे उत्पादों में आधुनिक तकनीक के समावेश की अपार सम्भावनायें है। प्रदेश सरकार ने बुनकरों की बेहतरी के लिए एक विभागीय पोर्टल ई-तानाबाना को विकसित किया है, जिसके माध्यम से बुनकर एवं आम जनमानस तक हथकरघा विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं, बुनकरों द्वारा उत्पादित उत्पादों का विवरण, मूल्य आदि आसानी से क्रेताओं तक सुलभ तरीके से पहुंचता है।