• Article Image

    जिलाधिकारी ने किया राजकीय महिला शरणालय का निरीक्षण

    Posted by - Vijay Darpan Times

    मेरठ, विजय दर्पण टाइम्स।
    जिलाधिकारी समीर वर्मा ने लालकुर्ती स्थित राजकीय महिला शरणालय का निरीक्षण कर अनुश्रवण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि संवासनियों को शासन द्वारा प्रदत्त सभी सुविधायें उपलब्घ करायी जाए तथा उनका नियमित स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए। उन्होनें संवासनियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिये प्रशिक्षण दिलाने व 18 वर्ष से ऊपर की संवासनियों को नियमानुसार मुक्त करने के लिये उनकी सूची बनाकर न्यायालय के समक्ष प्रस्ताव प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया। जिलाधिकारी को इस अवसर पर संवासनियों के बच्चों ने कविता सुनाई तथा जिलाधिकारी द्वारा रसोईघर, चिकित्सालय आदि का निरीक्षण किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि राजकीय महिला शरणालय गौतमबुद्धनगर स्थित नये बहुमंजिली भवन में स्थानानततिरत होगा। उन्होंने संवासनियों को डूडा व नाबार्ड से प्रशिक्षण कराने के लिये निर्देशित किया। प्रशिक्षण उपरान्त संवासनियां स्वंय सहायता समूह या अपना स्वंय का व्यवसाय प्रारम्भ करने के लिये नाबार्ड से आसान किस्तों में ऋण प्राप्त कर सकती है या कहीं नौकरी कर अपना जीवन स्तर ऊचार कर सकती है। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि प्रत्येक माह तीन बार आवश्यक रूप से सभी संवासनियों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए।
    जिलाधिकारी ने जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देशित किया कि संवासनियों की आयु टीसी के आधार पर निर्धारित की जाए तथा जिनका टीसी नहीं है उनका स्वास्थ्य विभाग से आयु निर्धारण कराया जाए तथा सभी को सूचीबद्ध करते हुए 18 वर्ष से ऊपर की संवासनियों को नियमानुसार मुक्त करने के लिये माननीय न्यायालय के समक्ष प्रस्ताव रखा जाएं। उन्होंने बताया कि महिला शरणालय गौतमबुद्धनगर में स्थानानतरित होने के बाद वहां 0 से 10 वर्ष तक की आयु के बच्चों का अनाथालय खोलने का प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा।जिला प्रोबेशन अधिकारी सुधाकर पाण्डेय ने बताया कि संवासनियों को भोजन वस्त्र, आवास व चिकित्सा आदि की सुविधा निशुल्क उपलब्ध करायी जाती है तथा उनको आत्मनिर्भर बनाने के लिये चयनित एनजीओ द्वारा निशुल्क प्रशिक्षण दिया जाता है। संवासनियों व वहां नियुक्त कर्मचारियों की उपस्थित बाॅयोमैट्रिक मशीन द्वारा लगायी जाती है। संवासनियों के मनोरंजन के लिये शरणालय में टेलीविजन, कैरमबोर्ड व लूडो आदि की व्यवस्था है। शरणालय स्थित चिकित्सालय में स्थायी नर्स नियुक्त है शरणालय में सीसीटीवी कैमरे लगे है जिसका माॅनीटरिंग के लिये कन्ट्रोल रूम अधीक्षिका के कार्यालय में स्थापित है। पूर्व में 30 संवासनियों को ब्यूटीशियन का कोर्स सिडिकेट बैंक की सहायता से कराया गया। राजकीय महिला शरणालय की अधीक्षिका रीमा राठी ने बताया कि राजीकय महिला शरणालय में कोर्ट से भेजी गयी महिलाए आती है तथा राजकीय पश्चातवर्ती देखरेख संगठन में कोर्ट से भेजी गयी व अनाथ महिलाएं संरक्षण पाती है।राजकीय महिला शरणालय में 103 संवासनियां व राजकीय पश्चातवर्ती देखरेख संगठन में 35 ंसंवासनिया निवासित है इस प्रकार कुल 138 संवासनियां वर्तमान में वहां निवासित है, जिसमें से 30 मानसिक मंदित संवासनियां भी है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी वीपी सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता रश्मि आर्या, धर्म दिवाकर सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारीगण उपस्थित रहे।